प्राकृतिक प्रक्रिया, महिला है। हैं। , और पान पान धर्म के समय दर्द, में ऐंठन,, के है। कई, में, भी हैं। इस

के दौरान दर्द क्या है? Introduction sur les douleurs de période en hindi

दर्द दौरान को dys (dysménorrhée) जाता है। रूप। दौरान (prostaglandine), तरह, निकलता है। (1) के, में बताएंगे।

के दर्द का कारण – Cause de période douloureuse en hindi

Cause de la douleur menstruelle en hindi

Shutterstock

यह हम हैं।

  1. पोषक।। व-कारण है है
  1. के।
  1. के
  1. को।।
  1. हैं।
  1. कभी
  1. दौरान
  1. कम।
  1. का तो। जरूरी है,
  1. खून।

उन जिनसे

के का लक्षण – Symptômes de la période douloureuse en hindi

होने MS जिसे, जिसे MS (syndrome prémenstruel) को वो कुछ रहे हैं (1):

  1. मिचलाना
  2. होना
  3. खराब होना
  4. होना
  5. लगना भूख लगना
  6. डिप्रेशन
  7. में दर्द
  8. में दर्द
  9. की परेशानी
  10. सिरदर्द
  11. आना
  12. महसूस होना या घबराहट होना

इस, दौरान नुस्खे

Remèdes à la maison pour la douleur de période en hindi

है का। कुछ रहे हैं।

1. यानी का सेंक

Coussin chauffant i.e. eau chaude

Shutterstock

-हो, रामबाण है। से

सामग्री:
  • या वॉटर बैग
उपयोग करें?
  • पैड लें।
  • 10-10 लिए।
  • अलावा,, अच्छे, अपने।
बार उपयोग करें?

दिन हैं।

फायदेमंद है?

दौरान (2) अध्ययनों (3)।

2.

Gingembre

Shutterstock

सिर्फ, के है दर्द,, व। अदरक।। मासिक

सामग्री:
  • इंच अदरक
  • कप गर्म पानी
  • शहद
उपयोग करें?
  • को 10 में भिगोएं।
  • लें।
  • इसे पिएं।
बार उपयोग करें?

पीरियड्स तो

फायदेमंद है?

(4) इंफ्लेमेटरी (5)) कुछ। (6)

3.

fromage blanc

Shutterstock

हो,, दही फायदेमंद। यह है। करें।

सामग्री:
  • कप दही
उपयोग करें?
  • कप दही का सेवन करें
बार उपयोग करें?

आपको, हैं।

फायदेमंद है?

शरीर मासिक है। प्रचुर (7) (8) विटामिन डी (9)

4.

Basilic

Shutterstock

-जैसी है। तरह है। अनियमित है।

सामग्री:
  • 10 12 तुलसी के पत्ते
  • शहद
उपयोग करें?
  • पानी लें।
  • अच्छी, शहद सेवन करें।
बार उपयोग करें?

दौरान।

फायदेमंद है?

नैचुरल है। , के हैं। मौजूद कैफीक एसिड एनाल्जेसिक (analgésique) की तरह करता (10) हैं।

5. का जूस (jus de cornichon)

Jus de cornichon

Shutterstock

दर्द। पर हैं।

सामग्री:
  • कप अचार का जूस
उपयोग करें?
  • जूस का करें।
बार उपयोग करें?

आपको

फायदेमंद है?

रस जो (11)

सावधानी: कि करें।

6. चाय

Thé aux herbes

Shutterstock

न सिर्फ, में आपको

क. कैमोमाइल चाय (thé à la camomille)

हल्दी चायों कैमोमाइल Tea (thé à la camomille), तत्वों है Tea है। तंत्र, आती है है अलावा,।

सामग्री:
  • कैमोमाइल टी बैग
  • कप गर्म पानी
  • शहद
उपयोग करें?
  • 10 तक भिगोकर रखें।
  • देर मिलाएं।
  • चाय को हर रोज पिएं
बार उपयोग करें?

चाय

फायदेमंद है?

वाला पौधा, है। फ्लेवोनॉइड्स होते हैं,-करते हैं। (12) Od (antispasmodique) (13) ऐंठन है।

ख. टी

करना हो,, तो। का

सामग्री:
  • ग्रीन टी बैग
  • कप पानी
  • शहद
उपयोग करें?
  • के।।
  • के लें।
  • थोड़ी।
बार उपयोग करें?

हैं।

फायदेमंद है?

) में कैटेकिन (catéchines) होते हैं, औषधीय हैं। एक प्राकृतिक anal (analgésique)

नोट: में उस।

7.

Fenugrec

Shutterstock

न, औषधि। में

सामग्री:
  • चम्मच मेथी दाने
  • गिलास पानी
उपयोग करें?
  • एक दें।
  • खाली करें।
बार उपयोग करें?

करें।

फायदेमंद है?

के बीज में लाइसिन (lysine) (tryptophane) पाए जाते हैं। की है। अलावा,, जो क्रैम्प पाउडर सकती 16 16 (16)

8. नमक (sel d'Epsom)

Sel d'Epsom

Shutterstock

मोटापे।। नहीं

सामग्री:
  • से दो कप सेंधा नमक
  • का पानी
उपयोग करें?
  • गुनगुने डालें।
  • पानी में आप 15 20 रखें।
  • पास,
बार उपयोग करें?

शुरू।।

फायदेमंद है?

(17) में इंफ्लेमेटरी। नमक आपकी तो (18)

9.

Papaye

Shutterstock

परेशानी,,। लिए है।

सामग्री:
  • प्लेट कटा हुआ पपीता
उपयोग करें?
  • हुए सकते हैं।
  • अलावा, हैं।
बार उपयोग करें?

हैं।

फायदेमंद है?

पीरियड्स ऐसे में पपीते के सेवन से ब्लड फ्लो में सुधार आता है और दर्द से राहत मिलती है। इसके अलावा, पपीते में मौजूद विटामिन, पोटैशियम, मैग्नीशियम, एंटीऑक्सीडेंट गुण और अन्य पौष्टिक तत्व पीरियड्स के दर्द से राहत दिला सकते हैं (19), क्योंकि कई बार पौष्टिक तत्वों की कमी के कारण भी मासिक धर्म के समय दर्द की समस्या हो सकती है।

10. नींबू का जूस

Jus de citron

Shutterstock

वजन घटाना हो, पेट को ठंडा रखना हो या पाचन तंत्र को बेहतर करना हो, नींबू का जूस फायदेमंद होता है। नींबू का जूस पीरियड्स के दौरान दर्द को भी कम कर सकता है। नीचे हम इसके सेवन का तरीका आपको बता रहे हैं।

सामग्री :
  • आधा नींबू
  • एक गिलास पानी
  • शहद
कैसे उपयोग करें?
  • एक गिलास गुनगुने पानी में आधे नींबू का रस मिला लें।
  • फिर इसमें स्वादानुसार शहद मिलाएं और इसका सेवन करें।
कितनी बार उपयोग करें?

हर रोज सुबह खाली पेट नींबू के रस का सेवन करें।

कैसे फायदेमंद है?

नींबू के एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण मासिक धर्म के समय दर्द और ऐंठन से राहत प्रदान करने में मदद कर सकते हैं (20) (21)। इसमें विटामिन-सी भी होता है, जो आपके शरीर में दूसरे खाद्य पदार्थ से मिलने वाले आयरन को अच्छे से अवशोषित करने में मदद करता है (पीरियड्स के दौरान अक्सर महिलाओं में आयरन की कमी हो जाती है) और महिलाओं की प्रजनन प्रणाली के लिए भी अच्छा है (22)।

11. एलोवेरा जूस

Aloe vera juice

Shutterstock

छोटा-सा दिखने वाला यह पौधा गुणों का खजाना है। औषधीय गुणों से भरपूर एलोवेरा मासिक धर्म के समय दर्द की समस्या से भी काफी हद तक राहत दिला सकता है। नीचे हम आपको पीरियड्स के दौरान एलोवेरा जूस के सेवन का तरीका बता रहे हैं।

सामग्री :
  • एक चौथाई कप एलोवेरा का रस
कैसे उपयोग करें?
  • आप ऐसे ही एलोवेरा के जूस का सेवन कर सकते हैं।
कितनी बार उपयोग करें?

पीरियड्स शुरू होने के पहले रोज एक बार एलोवेरा जूस का सेवन करें।

कैसे फायदेमंद है?

एलोवेरा के एंटी-इंफ्लेमेटरी और हीलिंग गुण पीरियड्स के दौरान दर्द और ऐंठन से काफी हद तक आराम दिला सकते हैं (23) (24)। यह रक्त प्रवाह को बेहतर बनाने में भी मदद कर सकता है, जिससे ऐंठन की तीव्रता कम हो सकती है (25)। आप इसका सेवन गुनगुने पानी के साथ भी कर सकते हैं। इससे भी मासिक धर्म के समय दर्द काफी हद तक कम हो सकता है।

12. पैरों की मालिश

Foot massage

Shutterstock

पीरियड्स के दौरान दर्द के लिए कई बार मालिश भी फायदेमंद होती है। पैर में एक प्रेशर पॉइंट होता है, जो पीरियड क्रैम्प से राहत दिलाने में मदद कर सकता है। यह पॉइंट टखने की हड्डी के ऊपर तीन उंगली की चौड़ाई पर स्थित होता है। अगर आप धीरे से अपने अंगूठे और उंगलियों के साथ इस पॉइंट पर मालिश करेंगे, तो पीरियड की ऐंठन और उनके लक्षणों जैसे सूजन, अनिद्रा व चक्कर आना जैसी समस्याओं से राहत मिल सकती है। इस मालिश को रिफ्लेक्सोलॉजी (reflexology) कहा जाता है (26)। बेहतर होगा कि आप इसे किसी विशेषज्ञ से करवाएं।

13. दालचीनी

Cannelle

Shutterstock

लगभग हर घर की रसोई में दालचीनी पाई जाती है। इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट गुण और कई पोषक तत्व सेहत के लिए फायदेमंद है। अर्थराइटिस यानी गठिया हो, डायबिटीज हो या अन्य कोई बीमारी, यह मसाला गुणों का खजाना है। इतना ही नहीं यह पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द को भी कम कर सकती है।

सामग्री :
  • थोड़ा-सा दालचीनी पाउडर
  • एक गिलास पानी
  • शहद स्वादानुसार
कैसे उपयोग करें?
  • एक गिलास पानी में दालचीनी पाउडर डालकर पानी को उबाल लें। अगर आपको पानी कम लगे, तो आप अपनी आवश्यकतानुसार और पानी भी डाल भी सकते हैं।
  • फिर इसमें स्वादानुसार शहद मिलाकर इस पानी का सेवन करें।

नोट: आप पाउडर की जगह साबुत दालचीनी का भी उपयोग कर सकते हैं। इसके अलावा, अगर आपके पीरियड्स अनियमित हैं, तो आप गर्म दूध में भी दालचीनी मिलाकर इसका सेवन कर सकते हैं।

कैसे फायदेमंद है?

दालचीनी के सेवन से पीरियड्स के दौरान दर्द, ऐंठन, उल्टी या रक्त स्राव से जुड़ी परेशानियां ठीक हो सकती है (27)। अगर आपको दालचीनी का पानी नहीं पसंद, तो आप सब्जी बनाते समय इसका उपयोग कर सकते हैं।

14. विटामिन-डी

vitamin D

Shutterstock

विटामिन-डी जरूरी पोषक तत्व है, जो प्रोस्टाग्लैंडीन के उत्पादन को कम कर सकता है। इस हार्मोन का स्तर अधिक होने पर पीरियड्स के दौरान ऐंठन हो सकती है। हालांकि, अभी तक इसका कोई ठोस प्रमाण नहीं है, लेकिन विटामिन-डी की कमी कहीं न कहीं पीरियड्स के दौरान दर्द का कारण हो सकती है। ऐसे में विटामिन-डी के सेवन से मासिक धर्म के दर्द और ऐंठन में कमी आ सकती है (28)। अगर आप विटामिन-डी की दवाई नहीं लेना चाहते हैं, तो आप मछली, पनीर, अंडे की जर्दी व संतरे का रस जैसे खाद्य पदार्थों के जरिए विटामिन-डी का सेवन कर सकते हैं।

आइए, अब इस दर्द से बचने के लिए कुछ अन्य टिप्स भी जान लेते हैं।

मासिक धर्म के समय होने वाले दर्द से बचाव के उपाय – Prevention Tips For Period Pain in Hindi

ऊपर आपने जाना कि पीरियड्स के दौरान दर्द से राहत दिलाने के लिए आप पेन किलर की जगह घरेलू उपचार आजमाएं। हालांकि, सिर्फ घरेलू उपाय ही नहीं, बल्कि कुछ अन्य बातें भी हैं, जिसका आपको पीरियड्स के दौरान ध्यान रखना चाहिए। मासिक धर्म के समय दर्द को कम करना है, तो नीचे बताई गए बातों का ध्यान रखें।

  1. पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थ का सेवन करें। कई बार सही डाइट न लेने से आपके शरीर को जरूरी पोषक तत्व नहीं मिलते हैं। साथ ही मासिक धर्म के दौरान रक्त स्राव के कारण भी शरीर से पोषक तत्व निकल जाते हैं। कहीं न कहीं यह समस्या पीरियड्स के दौरान दर्द का कारण बन सकती है। इसलिए, अपने आहार में हरी सब्जियों का सेवन जरूर करें।
  1. सब्जियों के अलावा आप फलों का सेवन करें, अगर फल खाना नहीं पसंद, तो आप जूस भी पी सकते हैं।
  1. व्यायाम या योग करें और इसे किसी विषेशज्ञ की देखरेख में ही करें। आप सुबह-शाम कुछ देर टहल भी सकते हैं।
  1. मासिक धर्म के वक्त तनाव से भी दर्द या ऐंठन की समस्या हो सकती है। इसलिए, कोशिश करें कि मन में किसी भी प्रकार की चिंता या तनाव न रखें।
  1. शराब या धूम्रपान न करें।
  1. सफाई का पूरा ध्यान रखें और हर कुछ घंटों में पैड बदलते रहें।
  1. पानी खूब पिएं, ताकि आपका शरीर हाइड्रेट रहे।
  1. ज्यादा तली-भूनी, मसालेदार या बाहरी खाद्य पदार्थ जैसे जंक फूड का सेवन न करें।
  1. हल्की-फुल्की मसाज लें।
  1. जरूरत से ज्यादा चाय-कॉफी का सेवन न करें।

आगे हम बता रहे हैं कि किन परिस्थितियों में डॉक्टर से चेकअप करवाना चाहिए।

कब लेनी चाहिए डॉक्टर की सलाह – When to Visit A Doctor

पीरियड्स के दौरान दर्द आम है, लेकिन कभी-कभी इसे नजरअंदाज करना भारी पड़ सकता है। अब सवाल यह उठता है कि मासिक धर्म के समय कमर दर्द या ऐंठन होने पर डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए। नीचे हम आपको इसी बारे में विस्तार से बता रहे हैं।

  1. अगर घरेलू उपायों के बाद भी दर्द कम न हो, तो आपको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।
  1. अगर आप गर्भवती हैं और आपको रक्त स्राव है, तो बिना देरी के डॉक्टर से मिलें।
  1. अगर आपके पीरियड्स अन्य दिनों के मुकाबले ज्यादा दिनों तक रहें, तो डॉक्टर की सलाह लें।
  1. अगर पीरियड्स सही वक्त पर न आ रहे हों या देरी से या एक-दो महीने छोड़कर आ रहे हों।
  1. पीरियड्स के दौरान बुखार आ रहा हो।

आजकल पीरियड्स के दौरान दर्द लगभग हर लड़की की परेशानी है, लेकिन ऊपर दिए गए घरेलू उपायों से मासिक धर्म के समय दर्द से काफी हद तक राहत मिल सकती है। इसके अलावा, मासिक धर्म के समय दर्द के उपाय के साथ-साथ अगर आप सही खान-पान और सही दिनचर्या का पालन करेंगी, तो आपके ये पांच दिन काफी आरामदायक हो सकते हैं। इन उपायों को आजमाएं और अपने अनुभव हमारे साथ शेयर करें। अगर आपके पास भी मासिक धर्म के समय दर्द के उपाय हों, तो नीचे दिए कमेंट बॉक्स में लिखें।

संबंधित आलेख

The post मासिक धर्म (पीरियड्स) के समय होने वाले दर्द का घरेलू इलाज – Period Pain Relief Tips in Hindi appeared first on STYLECRAZE.

0 Shares:
Laisser un commentaire

Votre adresse de messagerie ne sera pas publiée. Les champs obligatoires sont indiqués avec *

You May Also Like